- lokprasang - http://lokprasang.in -

बांका मंडल कारा का छठा स्थापना दिवस 6 सितंबर 2013 को आयोजित किया गया

Posted By wmadmin123 On October 22, 2013 @ 10:03 am In ज़िलानाम | No Comments

बांका मंडल कारा का छठा स्थापना दिवस 6 सितंबर 2013 को आयोजित किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ जिले के नये एवं युवा जिला पदाध्किारी बी कार्तिकेय के द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया। अपने संबोध्न में जिलाध्ीश ने बंदियों को उच्च विचार एवं सत्य मार्ग को जागृत करने की बात कही ताकि मानसिकता परिवर्तित होकर समाज के मुख्यधरा से जुड़ सकें। जेल प्रशासन द्वारा बंदियों की मानसिकता परिवर्तन हेतु किये जा रहे विभिन्न तरह के सार्थक प्रयास, जैसे योगा की शिक्षा, मशरूम उत्पादन की जानकारी एवं इग्नू द्वारा शिक्षा के क्षेत्रा में की जा रही सृजनात्मक पहल पर जिलाध्ीश ने प्रसन्नता व्यक्त की। वहीं दूसरी ओर पुलिस प्रशासन को अपने कर्तव्य निर्वाह के दौरान इस बात के लिए बखूबी आगाह किया कि किसी भी निर्दोषों को सलाखों के पीछे ध्केला न जाए।

मौके पर उपस्थित मुख्य न्यायिक दंडाध्किारी मनोज कुमार ने मंडल कारा में बंद बंदियों के मानसिक परिवर्तन की दिशा में चल रहे जेल प्रशासन की पहल पर संतोष जताया
राजेश पंजिकार

स्थापना दिवस के अवसर पर बंंदियों को योग के माध्यम से निरोग रहने के साथ ही उनके चारित्रिाक विकास व उनके âदय में सदगुुणों का संचार करने वाले योग गुरु मुकेश योगी को डीएम बी कार्तिकेय ने सम्मानित किया। इस अवसर पर जेल प्रशासन की ओर से उन्हें प्रमाण पत्रा व चादर भेंट की गई। इससे पहले बंदियों ने अपनी कला और जांबाजी से सबों को अचंभित कर दिया। सिकंदर सोरेन ने आदिवासी नृत्य एवं गीत की प्रस्तुति की तथा रहमान ने करतब दिखाते हुए अपने सिर से कई ईंटों को चकनाचूर कर दिया। जिलाध्ीश ने मंडलकारा के उत्थान के लिए सरकार की ओर से मिलने वाली सुविधओं की चर्चा करते हुए कहा कि आगे भी किसी चीज की कोई कमी नहीं रहने दी जाएगी। इस अवसर पर जिला परिषद अध्यक्षा श्वेता कुमारी, उपाध्यक्षा नीलम सिंह, उप विकास आयुक्त रमेश प्रसाद रंजन, डीआरडीए निदेशक रघुनंदन झा सहित जिले के कई वरीय पदाध्किारी उपस्थित थे।

काराध्ीक्षक ललित कुमार लोक प्रसंग से प्रपफुल्लित होकर कहते हैं-‘मंडल कारा के स्थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम मेंं जिलाध्किारी महोदय की गरिमामयी उपस्थिति हम सबों के लिए गौरव की बात है। जिलाध्ीश महोदय के द्वारा बंदियों को दिया गया संदेश उनके अंदर सकारात्मक सोच पैदा करने में सहायक सि¼ होगा।’


Article printed from lokprasang: http://lokprasang.in

URL to article: http://lokprasang.in/320/

Copyright © 2013 News World. All rights reserved.